SHIV KAILASHO KE WASI LYRICS | Hansraj Raghuwanshi - Lyrical Life

SHIV KAILASHO KE WASI LYRICS | Hansraj Raghuwanshi

SHIV KAILASHO KE WASI LYRICS This song is sung by Hansraj Raghuvanshi. It’s a Haryanvi Bhakti song. And Hansraj Raghuvanshi has sung many popular songs on Lord Shankar. Lyrics of this song are given by Devotional and music has given by Dr. Vinod Gandharv.

SHIV KAILASHO KE WASI LYRICS
Image Source: Youtube

शिव कैलाशो के वासी लिरिक्स सॉन्ग हंसराज रघुवंशी ने गाया है| इस सॉन्ग के अलावा भी हंसराज रघुवंशी ने बहुत सारे भगवान शंकर के गाने गाए हैं| यह गाने के लिरिक्स Devotional ने दी है| और यह गाने का म्यूजिक Dr. Vinod Gandharv ने दिया है|

Title: Shiv Kailasho Ke Wasi Lyrics

Singer: Hansraj Raghuwanshi

Lyrics: Devotional

Music: Dr. Vinod Gandharv

.

SHIV KAILASHO KE WASI LYRICS

जटा टवी गलज्जलप्रवाह पावितस्थले
गलेव लम्ब्यलम्बितां भुजंगतुंग मालिकाम्
डमड्डमड्डमड्डमन्निनाद वड्डमर्वयं
चकारचण्डताण्डवं तनोतु नः शिव: शिवम्
शिव: शिवम्, शिव: शिवम्, शिव: शिवम्, शिव: शिवम्

शिव किलाशो के वासी
घौली धारों के राजा
शंकर संकट हरना
[शिवशम्भो हरना]
संकर संकट हरना
[शम्भो]

शिव कैलाशो के वासी
धौली धारों के राजा
शंकर संकट हरना
[शंकर शिवशम्भो शम्भो
शंकर शिवशम्भो शम्भो]
शंकर संकट हरना
[शंकर शिवशम्भो शम्भो
शंकर शिवशम्भो शम्भो]

तेरे कैलाशों का अंत न पाया
तेरे कैलाशों का अंत न पाया
अंत बयंत तेरी माया
ओह भोले बाबा
अंत बयंत मेरी माया

शिव कैलाशो के वासी
धौली धारों के राजा
शंकर संकट हरना
[शंकर शिवशम्भो शम्भो
शंकर शिवशम्भो शम्भो]
शंकर संकट हरना
[शंकर शिवशम्भो शम्भो
शंकर शिवशम्भो शम्भो शंकर..]

बेल की पत्तियां, भांग धतुरा
बेल की पत्तियां, भांग धतुरा
शिव जी के मन को लुभाएँ
ओह भोले बाबा
शिव जी के मन को लुभाएँ

शिव कैलाशो के वासी
धौली धारों के राजा
शंकर संकट हरना
[शंकर शिवशम्भो शम्भो
शंकर शिवशम्भो शम्भो]
शंकर संकट हरना
[शंकर शिवशम्भो शम्भो
शंकर शिवशम्भो शम्भो]

एक था डेरा तेरा, चम्बे रे चौराना
एक था डेरा तेरा, चम्बे रे चौराना
दूजा लायी दित्ता भार्मौरा
ओह भोले बाबा
दूजा लायी दित्ता भार्मौरा

शिव कैलाशो के वासी
धौली धारों के राजा
शंकर संकट हरना
[शंकर शिवशम्भो शम्भो
शंकर शिवशम्भो शम्भो]
शंकर संकट हरना
[शंकर शिवशम्भो शम्भो
शंकर शिवशम्भो शम्भो]

शिव कैलाशो के वासी
धौली धारों के राजा
शंकर संकट हरना
[शंकर शिवशम्भो शम्भो
शंकर शिवशम्भो शम्भो]
शंकर संकट हरना
[शंकर शिवशम्भो शम्भो
शंकर शिवशम्भो शम्भो]
शम्भो

So I hope you liked this SHIV KAILASHO KE WASI LYRICS. If you want more lyrics of Bhakti Songs, you can visit our website again.

Leave a Comment